मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ में कांग्रेस की सरकार बनते ही किसानों के 41 हजार करोड़ रूपये के कर्ज को माफ कर दिया गया..लेकिन इस फैसले का प्रभाव ये रहा कि बीजेपी शासित गुजरात सरकार ने 6.22 लाख बकाएदारों का 625 करोड़ बिजली बिल और असम सरकार ने आठ लाख किसानों का 600 करोड़ रूपये का कर्ज माप कर दिया..भाजपा ने ओडिशा में सत्ता में आने पर किसानों का कर्ज भी माफ करने का ऐसालन किया..। ओडिशा में 2019 में विधानसभा चुनाव होने है..गुजरात में बिजली बिलो में माफी की घोषणा जसदण विधानसभा सीट पर उपचुनाव से ठीक 48 घंटे पहले की गई..उधर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि देश के सभी किसानों का कर्ज माफ होने तक वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को सोने नहीं देंगे ।  राहुल ने कहा कि मोदी सरकार ने चुनिंदा उद्योगपतियों का साढे तीन लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ कर दिया लेकिन साढे चार साल में किसान का एक रुपया भी माफ नहीं किया कांग्रेस ने सरकार बनने के 10 दिन में कर्ज माफी का वादा किया था..और मध्यप्रदेश छत्तीसगढ में सरकार बनने के छह घंटे में यह फैसला कर भी लिया….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here