मुख्यमंत्री बनने के 24 घंटे बाद ही कमलनाथ ने साल 2001 बैच के आईएएस अधिकारी और रीवा के कमिश्नर महेन्द्रचंद्र चौधरी को हटाकर शहड़ोल संभाग के कमिश्नर और 2001 बैच के ही आईएएस अधिकारी जे के जैन को प्रभार सौंप दिया..इसके अलावा छिंदवाड़ा के एसपी अतुल सिंह की जगह भोपाल के एसपी रेल मनोज राय को छिंदवाड़ा का नया एसपी बनाया है..शपथ लेने के बाद कमलनाथ का ये पहला प्रशासनिक फेरबदल है जिसमें एक आईएएस और एक आईपीएस पर गाज गिरी है…लेकिन बड़ा सवाल ये कि आखिर इस फैसले के पीछ वजह क्या है…क्या कमलनाथ ने किसी नाराजगी या फिर सियासी रंजिश के चलते ये फैसला उठाया..।।

बताया जा रहा है कि…महेन्द्रचौधरी साल 2014 के आम चुनाव में छिंदवाड़ा के कलेक्टर थे और कमलनाथ के शिकारपुर स्थित निवास तक पहुंच गए थे वहा कमलनाथ के समर्थकों के साथ उनका इस बात को लेकर विवाद भी हुआ था..सूत्रो की माने तो तब कमलनाथ ने तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से कहकर उन्हे हटवाया था..कुछ समय भोपाल में रहने के बाद मुख्यमंत्री ने पहले चौधरी को जबलपुर का कलेक्टर बनाया फिर रीवा कमिश्नर की कमान दी..महेशचनद्र रीवा में भी विधानसभा चुनाव के दौरान सुर्खियों में आ गए ।

सार ये है कि सियासत के आगे..हर कोई नतमस्तक है..नाराजगी और रजिश कभी कभी कुलकर सामने आ जाती है वरना ज्यादातर मामलों में अंदर ही अंदर खेल होते रहते है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here