मुंबई आतंकी हमले से जुड़े लोगों की सूचना देने वालों को अमेरिका 35.5 करोड़ रुपए (50 लाख डॉलर) तक का इनाम देगा। वहां के विदेश मंत्री माइकल आर पोम्पियो ने इसका ऐलान किया। और कहा कि जो भी व्यक्ति हमले की साजिश रचने वालों या इसमें मदद करने वालों की जानकारी देगा, उसे ईनाम मिलेगा
पोम्पियो ने मुंबई हमले पर कहा कि ‘‘अमेरिकी सरकार और सभी नागरिकों की ओर से मैं भारत और मुंबई शहर के प्रति हमदर्दी जता रहा हूं। हम आतंकी हमले में अपनों को खोने वाले परिवारों और उनके दोस्तों के साथ खड़े हैं। इसमें छह अमेरिकी नागरिकों की भी जान गई थी। 26/11 के आतंकी हमले ने पूरी दुनिया को दहला दिया था।

mumbai blast
इसके साथ ही पोम्पियो ने कहा कि ‘‘पाकिस्तान से कहा जाएगा कि वह अमानवीय हमले के लिए जिम्मेदार लश्कर-ए-तैयबा और दूसरे आतंकी संगठनों पर प्रतिबंध लगाए। पीड़ित परिवारों के लिए यह बेहद दुख की बात है कि हमले की साजिश में शामिल लोगों के खिलाफ 10 साल बाद भी कार्रवाई नहीं हो पाई।
26 नवंबर 2008 को 10 आतंकी कराची से समुद्र के रास्ते मुंबई पहुंचे थे। उन्होंने छत्रपति शिवाजी टर्मिनस, ताज होटल, ट्राइडेंट होटल और यहूदी केंद्र पर हमला किया था। इसमें 166 लोग मारे गए थे। इनमें 28 विदेशी नागरिक भी शामिल थे। करीब 60 घंटे मुठभेड़ चली थी। एक आतंकी कसाब को जिंदा पकड़ा गया था
नेवी चीफ ने कहा कि 26/11 हमले से अब तक हम काफी लंबा रास्ता तय कर चुके हैं। 10 साल में भारत ने कई स्तरों वाला निगरानी और सुरक्षा तंत्र तैयार कर लिया है। सुरक्षा और निगरानी तंत्र की वजह से हमारी समुद्री सीमाएं करीब-करीब अभेद्य हो गई हैं। इस तरह के हमलों से निपटने के लिए हम पहले से ज्यादा तैयार और संगठित हैं
हमलों की 10वीं बरसी पर शहीदों को श्रद्धांजलि देने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस दक्षिण मुंबई स्थित पुलिस जिमखाना पहुंचे। जहां उन्होने कहा कि मुंबई की सुरक्षा के लिए लड़ने और अपनी जान देने वालों पर हमें गर्व है और हम आगे भी अपने राज्य की सुरक्षा के लिए मेहनत करते रहेंगे। इस मौके पर उनके साथ राज्य के गवर्नर सी विद्यासागर राव और अन्य कई कैबिनेट मंत्री मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here